ब्लास्ट से हिली दिल्ली,इजरायली दूतावास के पास IED धमाका, कई कारों के शीशे टूटे, NIA मौके पर पहुंची

0
568

दिल्ली में इजरायल के दूतावास के पास धमाका हुआ है. ब्लास्ट में 4 से 5 कारों को नुकसान पहुंचा है. घटना में किसी के घायल होने की सूचना नहीं है. स्पेशल सेल की टीम मौके पर पहुंच गई है.

पुलिस का कहना है कि धमाके के बारे में किए गए फोन कॉल में इजराइल मेंशन नहीं है. वहीं धमाका दूतावास के पास एक बंगले में हुआ है. अभी तक किसी के घायल होने की खबर नहीं है. हालांकि धमाके की सूचना पर दमकल की तीन गाड़ियां पहुंच गई हैं. दिल्ली पुलिस का मानना है ये लो इंटेंसिटी का ब्लास्ट है. किसी के घायल होने की कोई खबर नहीं है. तीन गाड़ियों को नुकसान पहुंचा है. पुलिस इसे शरारती तत्वों की करतूत बता रही है.

दमकल विभाग का कहना है कि चार से पांच गाड़ियों के शीशे टूटे हैं. धमाका दूतावास के पास ही 6 नंबर बंगले में हुआ है. जानकारी के मुताबिक धमाके को लेकर दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम जांच में जुट गई है. इसके बारे में विस्तृत जानकारी का इंतजार किया जा रहा है. आपको बता दें कि पिछले साल दिसंबर के महीने में खुफिया एजेंसियों ने भारत में रहने वाले इजरायली नागरिकों और चबद हाउस (Chabad House) पर हमले का अलर्ट जारी किया था.

गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्‍टर मार्च के दौरान हुई हिंसा के बावजूद कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग करने वाले किसान सिंघु बॉर्डर पर डटे हैं. किसानों के प्रदर्शन स्‍थल पर शुक्रवार को एक बार फिर से हंगामा हो गया. खुद को स्‍थानीय निवासी बताने वाले लोगों का एक गुट वहां पहुंचा और धरना समाप्‍त कर रास्‍ता खोलने की मांग करने लगे.

ये लोग ‘सिंघु बॉर्डर खाली करो’ के नारे लगाने लगे. इससे वहां के हालात इतने बिगड़ गए कि पुलिस को अनियंत्रित भीड़ को नियंत्रित करने के लिए आंसू गैस के गोले तक दागने पड़े. जानकारी के मुताबिक, इस अफरातफरी के बीच प्रदर्शनकारी की तलवार से अलीपुर के SHO प्रदीप पालीवाल घायल हो गए.

सिंघु बॉर्डर पर पुलिस ने कथित तौर पर स्थानीय होने का दावा करने वालों और किसानों पर बल प्रयोग किया. स्थानीय होने का दावा करने वाले लोग विरोध स्थल खाली करने के लिए प्रदर्शन कर रहे थे. इस दौरान किसानों से उनकी झड़प हो गई. बताया जाता है कि प्रदर्शनकारियों की ओर से पहले पत्‍थरबाजी शुरू कर दी गई थी. इसके बाद पुलिस को भी सख्‍ती करनी पड़ी.