चीन में शक्तिशाली तूफान, हुई सात लोगों की मौत, 239 घायल, स्थानीय लोगों को क्‍यों हो रही है हैरानी, जानिए

0
221

चीन के दो शहरों वुहान (Wuhan) और सूझोऊ (Suzhou) में आए शक्तिशाली तूफानों ने जनजीवन अस्तव्यस्त कर दिया। इन तूफानों से भारी नुकसान हुआ है। इन दोनों ही शहरों में कई घर ध्वस्त हो गए और निर्माणाधीन स्थलों पर ज्यादा तबाही हुई। तूफान से सात लोगों की मौत हो गई और 239 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। स्थानीय लोगों को तूफान आने पर आश्चर्य है। आमतौर पर इस क्षेत्र में तबाही मचाने वाले तूफान नहीं आते हैं।

वुहान में तूफान का कहर

 तूफान रात करीब आठ बजकर 40 मिनट पर आया और इस दौरान 86 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली। तूफान की भयावहता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कई निर्माणाधीन अस्थाई छतें और पेड़ उखड़ गए। इससे भारी नुुुुुकसान की खबर है। 

शेंगजे शहर में भी बर्बादी

इससे करीब 90 मिनट पहले जियांग्सु प्रांत से लगभग 400 किलोमीटर पूर्व में स्थित शेंगजे शहर में एक अन्य तूफान आया जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि 21 लोग घायल हो गए। तूफान से शेंगजे में फैक्ट्रियों की इमारतें ध्वस्त हो गईं और बिजली केंद्रों को भी नुकसान पहुंचा है।

चीन ने माउंट एवरेस्ट चढ़ाई पर लगाई रोक

वहीं समाचार एजेंसी एपी की रिपोर्ट के मुताबिक चीन ने माउंट एवरेस्ट चढ़ाई पर रोक लगा दी है। यह रोक विदेशी पर्वतारोहियों के माध्यम से कोरोना संक्रमण आने की आशंका में लगी है। चीन का मानना है कि नेपाल की तरफ से एवरेस्ट पर पहुंचने वाले पर्वतारोहियों से भी उसकी तरफ से जाने वाले पर्वतारोही संक्रमण का शिकार हो सकते हैं। नेपाल की कोरोना महामारी के कारण हालत खराब है। इसीलिए चीन नेपाल की सीमा पर हर तरह की सावधानी बरत रहा है।