महाराष्ट्र के बाद जोधपुर में महीने भर के लिए कर्फ्यू,नवंबर के बाद भारत में सबसे ज्यादा कोरोना के केस

0
223

जोधपुर पुलिस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि पड़ोसी राज्यों महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए ये फैसला लिया गया है.

राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने जोधपुर में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए 21 मार्च तक धारा 144 लगा दी है. शादियों और सार्वजनिक कार्यक्रमों के लिए 100 लोगों की संख्या तय कर दी गई है. केवल आवश्यक जरूरत के सामान की दुकानें, स्कूल और कॉलेज खुले रहेंगे.

जोधपुर पुलिस की ओर से जारी बयान में ये जानकारी दी गई है. उधर, मध्य प्रदेश ने पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए पड़ोस के जिलों से आने वाले लोगों की थर्मल स्कैनिंग करने का फैसला लिया है. 

इसके साथ ही मध्य प्रदेश सरकार ने भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद, बेतुल, सिवनी, छिंदवाड़ा, बालाघाट, बरवानी, खंडवा, खरगोन, बुरहानपुर, अलीराजपुर और महाराष्ट्र से सटे जिलों के कलेक्टरों से आपदा प्रबंधन कमिटी की मीटिंग बुलाकर कोरोना वायरस संक्रमण के बारे में तैयारी करने और सतर्कता बरतने को कहा है.

केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने सोमवार को कहा कि कर्नाटक सरकार ने केरल से आने वाले लोगों के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य कर दी है. हालांकि कर्नाटक के डीजीपी ने आश्वासन दिया है कि आवश्यक सामान लेकर जाने वाले वाहनों को छूट मिलेगी. उन्होंने कहा कि राज्य की सीमाओं पर कर्नाटक जाने वाले ज्यादातर रास्ते बंद हैं और इस बारे में केंद्र सरकार को जानकारी दी जाएगी