बिहार के बक्सर इलाके की खौफनाक ख़बर, गंगा किनारे मिलीं 40 से ज्यादा लाशें, जानिए पूरा मामला

0
451

मुल्क भर में जारी कोरोना बोहरान के बीच बिहार के बक्सर जिले में इंसानियत को शर्मशार करने वाली तस्वीर सामने आई है.

बक्सर: बक्सर ज़िले के चौसा ब्लॉक के चौसा के करीब गंगा में कम से कम 40 लाशें तैरती हुई मिली हैं. इन लाशों की तस्तीरें वायरल हुई हैं, वह निहायत दिल दहलाने वाली हैं. इनमें लाशों को जानवर नोचते दिख रहे थे. इस मामले के सामने आने के बाद इलाके में दहशत फैल गई है और लोगों ने जिला प्रशासन पर लापरवाही का इल्ज़ाम लगाया है. वहीं जिला प्रशासन ने इस मामले से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि ये उत्तर प्रदेश की लाशें हैं, जो यहां बहकर आ गई हैं. 

चौसा के बीडीओ अशोक कुमार ने इस मामले के हवासे से कहा है कि ये करीब 40 से 45 लाशें होंगी, जो अलग अलग जगहों से बहकर महदेवा घाट पर आ कर लग गई हैं. उन्होंने बताया कि ये लाशें हमारी नहीं हैं. हम लोगों ने एक चौकीदार लगा रखा है, जिसकी निगरानी में लोग शव जला रहे हैं. ऐसे में ये शव उत्तरप्रदेश से बहकर आ रहे हैं और यहां पर लग जा रहे हैं.

एक दूसरे एसडीएम सदर केके उपाध्याय ने कहा, “लाशें फूली हुई हैं और कम से कम पांच से सात दिनों से पानी में हैं. हमें जांच करने की जरूरत है कि वे कहां से हैं, यूपी के किस शहर से हैं.”

एसडीएम सदर केके उपाध्याय ने भी यही कहा कि ‘ये बिहार की नहीं उत्तर प्रदेश की लाशें हो सकती हैं क्योंकि हमारे यहां लाशें जलाने की परंपरा है.’ 

चौसा ब्लॉक के पवनी गांव के रहने वाले अनिल कुमार सिंह कुशवाहा बताते हैं कि चौसा, मिश्रवलिया, कटघरवा समेत दर्जनों गांव के लोग घाट पर लाशो की अंतिम संस्कार के लिए आते हैं. लेकिन, यहां की हालत देखकर अब वह दहशत से भर गए हैं. इतना ही नहीं, गंगा नदी के किनारे बसे कई गांवों के लोग जो गंगा के पानी का इस्तेमाल करते हैं वह भी इस हालत को देखकर बेहद डर गए हैं.