SHOOTOUT AT DELHI ROHINI COURT – कोर्ट रूम में गैंगस्टर जीतेंद्र गोगी की हत्या

0
713

दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में गैंगवार

नामी बदमाश जितेंद्र गोगी को कई गोलियों मारी

गोगी पर मर्डर, एक्सटॉर्शन, पुलिस पर हमला करने के मामले थे

पिछले साल पुलिस ने गुरुग्राम से किया था गिरफ्तार

गिरफ्तारी के समय उस पर था लगभग 8 लाख का इनाम

वकील के ड्रेस में आए थे दो बदमाश

गंभीर रूप से घायल गोगी को अस्पताल ले जाया गया

पुलिस ने जवाबी फायरिंग में गोली चलाने वाले पर भी गोली चलाई

डीसीपी रोहिणी प्रणव तयाल ने की मामले की पुष्टि।

कहा एडवोकेट की ड्रेस में आए थे हमलावर उन्होंने चलाई गोगी पर कई गोलियां।

जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी की फायरिंग।

दिल्ली के रोहिणी कोर्ट परिसर में शुक्रवार को गैंगवॉर हुआ। बदमाशों ने गोली मारकर गैंगस्टर जीतेंद्र गोगी की हत्या कर दी। इस गैंगवॉर में गोगी समेत कुल तीन लोग मारे गए हैं। फायरिंग में 3 से 4 लोग घायल भी हुए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, गोगी पेशी के लिए कोर्ट में आया था। गोली लगने के बाद मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

राइवल टिल्लू गैंग के दो बदमाश वकील के कपड़ों में आए थे। उन्होंने कोर्ट रूम नंबर 207 में जज गगनदीप सिंह के सामने ही गोगी पर गोलियां चलाईं। पुलिस के स्पेशल सेल की जवाबी फायरिंग में दोनों बदमाश ढेर हो गए।

वकील ललित कुमार ने बताया कि हमलावर वकील की ड्रेस में आए थे। उन्होंने गोगी को लगातार 3 गोलियां मारीं। गोगी की सुरक्षा में जो दिल्ली पुलिस के लोग थे उन्होंने 25-30 गोलियां चलाई हैं। जिसमें अपराधियों की मौत घटनास्थल पर हो गई। गोगी की अस्पताल में मौत हो गई।

करीब 1 साल पहले दिल्ली पुलिस ने गुप्त सूचना मिलने के बाद कुख्यात गैंगस्टर जितेंद्र गोगी की गिरफ्तारी के लिए गुड़गांव के सेक्टर 83 में छापा मारा था. इस दौरान गोगी के साथ उसके गैंग के तीन साथी कुलदीप मान उर्फ फज्जा, रोहित उर्फ मोई और कपिल उर्फ गौरव भी फ्लैट में थे.

पुलिस से घिरने के बाद जितेंद्र गोगी ने फोन पर वीडियो बनाकर वायरल कर दिया था. उसका आरोप था कि पुलिस उसका एनकाउंटर कर देगी और वो सरेंडर करना चाहता है. साथ ही उसने कहा था कि मैं अपने साथियों कुलदीप और मोई के साथ सरेंडर करना चाहता हूं. हमारे पास कोई हथियार नहीं है.दिल्ली के अलीपुर के रहने वाले गैंगस्टर जितेंद्र गोगी पर गिरफ्तारी के समय लगभग 8 लाख रुपये का इनाम घोषित था. 

गोगी बेहद कुख्यात बदमाश था, जिस पर हत्या, जबरन उगाही और पुलिस पर हमला करने जैसे तमाम मामले दर्ज थे. बता दें कि कुछ महीने पहले जितेंद्र गोगी के खास माने जाने वाले कुलदीप मान उर्फ फज्जा का दिल्‍ली पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया था. यह एनकाउंटर रोहिणी के एक फ्लैट में हुआ था.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, टिल्लू ताजपुरिया और जितेंद्र गोगी दोनों ही दिल्ली यूनिवर्सिटी के श्रद्धानंद कॉलेज के स्टूडेंट थे.जबकि कॉलेज के समय से ही दोनों के बीच दुश्मनी शुरू हो गई. यही नहीं, गोगी गैंग और टिल्लू ताजपुरिया गैंग के बीच पिछले 3-4 वर्षों में 20 से ज्यादा गैंगवार हुई हैं, जिसमें कई लोगों की जान चली गई. इससे पहले दिल्ली के बुराड़ी इलाके में भी इन दोनों गैंग के बीच फायरिंग हुई थी, जिसमें तीन लोगों की जान चली गई थी.