पंजाब में कई जगह हालत गंभीर, कई गांवों में बढ़ने लगे कोरोना संक्रमण के आंकड़े..

0
112

सरकार और प्रशासन की अपील न मानकर लोगों का भीड़ के रूप में इकट्ठा होना जिला मुक्तसर के गांव भूंदड़ के लिए मुसीबत बन गया है। पांच हजार आबादी वाले इस गांव में एक सप्ताह के भीतर छह लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है, जबकि तीन लोगों की हालत गंभीर है।

सेहत विभाग की ओर से 700 लोगों के सैंपल लेकर जांच की गई तो इसमें से 178 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। बिगड़ते देख यहां कंटेनमेंट जोन बनाकर गांव को सील कर दिया गया है। मंगलवार को गांव में फिर बड़ी संख्या में लोगों के सैंपल लिए जाएंगे। गांव में संक्रमण के विस्तार को लेकर सरपंच सुखदेव सिंह का कहना है कि गांव के लोग दो महीने पहले किसान धरने में शामिल होकर लौटे हैं लेकिन वह सभी स्वस्थ हैं। परंतु गांव से डेढ़ किलोमीटर दूर मुक्तसर-मलोट मार्ग पर एक धार्मिक स्थल पर हुई समागमों में गांव के लोग नियमित रूप से शामिल होते रहे।

सरपंच सुखदेव सिंह के घर में चार लोग पाजिटिव

सरपंच सुखदेव सिंह ने कहा कि उनके अपने घर में चार लोग पाजिटिव पाए गए हैं। जिसमें उनका भाई शाह भूंदड भी शामिल है जो मुक्तसर के कोपरेटिव बैंक का चेयरमैन है। सोमवार को डीसी, एसएसपी और सेहत विभाग के अधिकारियों का फोन आया था। मंगलवार से गांव में बड़ी संख्या में लोगों के टेस्ट होंगे।

गांव के स्कूल को बनाया क्वारंटाइन सेंटर

सरपंच सुखदेव सिंह ने बताया कि गांव के सरकारी सीसी स्कूल को क्वराइंटन सेंटर बनाया गया है। गांव के उन सभी लोगों को यहां आइसोलेट किया जाएगा जिन्हें घर पर एकांतवास में नहीं रखा जा सकता। सभी के लिए खाने का प्रबंध किया जा रहा है।

मुक्तसर के एक ही गांव में 116 लोग संक्रमित, गांव किया सील

श्री मुक्तसर साहिब जिले के गांव भूंदड़ में सोमवार को 116 कोरोना संक्रमित मिले हैं। गांव में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 178 पहुंच गया है। यहां दो लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। एक साथ इतनी ज्यादा संख्या में लोगों के संक्रमित मिलने के बाद गांव को सील कर दिया गया है। यही नहीं गांव में अब हर व्यक्ति का सैंपल लेने का फैसला किया गया है। 

बठिंडा के गांव नथेहा में 25 लोग मिले पाजिटिव

बठिंडा के गांव नथेहा में एक साथ 25 लोग कोरोना पाजिटिव मिले हैं। यह हालात तब हैं जब गांव में सेहत विभाग की टीम ने दो दिन में 65 लोगों के सैंपल लिए। इनमें से अभी तक कुछ सैंपल की रिपोर्ट आना बाकी है|

गांव के समाज सेवी गुरप्यार सिंह ने बताया कि गांव में रविवार की रात एक मरीज की सेहत बिगड़ गई और उनका आक्सीजन स्तर नीचे चला गया। उसे बठिंडा के अस्पताल में शिफ्ट करना पड़ा। अब उसकी सेहत में कुछ सुधार बताया जा रहा है। गांव के सरपंच जगसीर सिंह ने गांव के लोगों से अपील की कि जिनकी भी सेहत खराब है वे तुरंत अपनी जांच कराएं ताकि समय पर मरीज का इलाज कराया जा सके।