चक्रवाती तूफान टाक्टे ने कई राज्यों को भारी नुकसान पहुंचाया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को गुजरात और दीव का दौरा करेंगे और चक्रवाती तूफान टाक्टे के चलते हुए नुकसान की समीक्षा करेंगे।

पीएम मोदी ऊना, दीव, जाफराबाद और महुवा जैसे क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। इसके बाद वह अहमदाबाद में एक समीक्षा बैठक भी करेंगे।गुजरात में चक्रवात टाक्टे से जुड़ी घटनाओं में कम से कम सात लोगों की जान चली गई जबकि इसकी वजह से तटीय इलाकों में भारी नुकसान हुआ। बिजली के खंभे तथा पेड़ उखड़ गए तथा कई घरों व सड़कों को भी नुकसान पहुंचा है।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि टाक्टे अब कमजोर होकर चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया है और जैसे-जैसे उत्तर की तरफ बढ़ेगा यह गहरे दबाव में बदल जाएगा। चक्रवाती तूफान के कारण राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश हुई और करीब 35 तालुका में एक इंच से ज्यादा बारिश दर्ज की गई।

देश के विभिन्न हिस्सों में 27 लोगों की हुई मौत

बता दें कि दो दिन तबाही मचाने के बाद चक्रवाती तूफान टाक्टे अब कमजोर पड़ने लगा है। बीते दो दिनों में यह तूफान केरल, कर्नाटक, गोवा और महाराष्ट्र में काफी तांडव मचा चुका है। इसके बाद कल देर रात यह गुजरात के तट से टकराया इस दौरान 185 किमी से लेकर 190 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चलती रहीं। इस तूफान के कारण देश के विभिन्न हिस्सों में 27 लोगों की मौत हो गई है। चक्रवाती तूफान के चलते लगभग 100 से अधिक लोग लापता हो गए हैं।