जिस चीज़ ते मित्रां दी आँख टिक जाए ,ओह छड्डी दी कदे ना

0
543

जालंधर के थाना 8 की पुलिस को मात देती है यहाँ की ट्रैफिक पुलिस ! पढ़े खबर

जालंधर
सुखविंदर बग्गा

बहादुर और शातिरों के लिए कहावत है की जिस चीज़ पर वो आँख रख लेते है वो उसको किसी भी कीमत पर नहीं छोड़ते | ऐसी ही एक घटना इसको सच करती दिखाई देती है , जिसमें की जालंधर की ट्रैफिक पुलिस ने फिर एक बार दोहरी ड्यूटी का उदाहरण देते हुए खो बाज़ी करने वाले को धार दबोचा और आराम फरमाती थाना 8 की पुलिस के हवाले किया |

दरहसल,हुआ यु की बीते दिन पठानकोट चौक मे एक स्नैचिंग की वारदात हुई थी जिसमें की उक्त स्नैचर वारदात को अंजाम देने के बाद फरार होने लगा तो वहाँ मौजूद HC जितेंदर और साथी ट्रैफिक कर्मी बलदेव राज ने उसे पकड़ने की कोशिश की पर वो फरार हो गया | आज शनिवार को दुबारा जब उक्त ट्रैफिक कर्मी अपनी ड्यूटी पर थे , तो पठानकोट चौक पर HC जितेंदर ने उसी स्नैचर को पहचाना और शक के आधार पर उसे पकड़ लिया , जिसके बाद उसे पीसीआर के हवाले कर दिया गया ,और वो बार बार पूछने पर भी मन करता रहा की वो किसी स्नैचिंग में शामिल नहीं है |

पकडे गए आरोपी की पहचान मनी पुत्र राजू निवासी सलेमपुर मुसलमाना के रूप मे हुई है जो की स्प्लेंडर मोटरसाइकिल पर वारदातों को अंजाम देता है | जब उसे थाना 8 के हवाले किया गया तो वह की गयी पूछताछ में उसने कबूल किया की वो स्नैचर है और उसने कई वारदातों को भी अंजाम दिया है | पूरे मामले में अब थाना 8 की पुलिस बनती कार्यवाही कर रही है |

इस पूरे मामले में ये देखने को मिला की थाना 8 की पुलिस लगातार हो रही वारदातों पर लगाम लगाने में असफल दिखाई दे रही है जबकि शहर की ट्रैफिक पुलिस शहर का ट्रैफिक संभालने के साथ साथ शहर के लूटेरे और स्नैचरो को भी पकड़ रही है और थाना पुलिस का काम भी कर रही है | अक्सर ट्रैफिक पुलिस को चलान काटते देख कई लोग उन्हें भला बुरा कहने से नहीं चूकते पर हर बार पुलिस को गलत ठहराना भी सही नहीं है क्यूंकि यही पुलिस क्राइम कण्ट्रोल कर अपनी दोहरी ड्यूटी निभा रही है |