पंजाब में ओमीक्रॉन की एंट्री , 16 दिन बाद रिपोर्ट आने पर चला पता

0
181
omnicorn
omnicorn

मार्च 2020 में भी प्रदेश का पहला कोरोना पाजिटिव भी इसी जिले से रिपोर्ट किया गया था।

पंजाब का पहला ओमिक्रोन मरीज भी नवांशहर से सामने आया है। 

ओमिक्रोन संक्रमित मरीज ठीक होकर घर जाने के बाद 28 दिसंबर को यह रिपोर्ट दी है कि वह व्यक्ति ओमिक्रोन पाजिटिव था। इससे विभाग की कार्यप्रणाली पर बड़ा प्रश्न चिन्ह लग गया है। 4 दिसंबर को स्पेन से लौटे इस व्यक्ति की कोरोना रिपोर्ट 12 दिसंबर को पाजिटिव आ गई थी। इससे पहले उसे होम क्वंरटाइन कर दिया गया था। 12 दिसंबर को रिपोर्ट पाजिटिव आने के बाद उसे नवांशहर के सिविल अस्पताल में दाखिल करवा दिया गया। 24 दिसंबर को उसे डिस्चार्ज किया जा चुका है। जिले के स्वास्थ्य विभाग ने उसी समय उसका सैंपल ओमिक्रोन जांच को भेज दिया था।

स्पेन से आए व्यक्ति की कांटेक्ट हिस्ट्री को जांचने के बाद उसके संपर्क में आए 13 लोगों की जांच की गई थी। इनमें से दो लोग पाजिटिव आए थे। यह लोग भी अब ठीक होकर अपने घरों को जा चुके है। इनके सम्पर्क में आने वाले अन्य लोगों की रिपोर्ट भी नेगेटिव आ चुकी है।

डिप्टी कमिश्नर विशेष सारंगल का कहना है कि 28 दिसंबर को जिले के स्वास्थ्य विभाग को यह रिपोर्ट मिली कि स्पेन से मुंकदपुर आया व्यक्ति ओमिक्रोन पाजिटिव था। सरकार के निर्देशों के मुताबिक पहले ही उसके पाजिटिव आने के बाद उसे होम क्वंरटाइन कर उसके संपर्कों को जांचा गया। सभी के सैंपल लिए गए।

सभी मरीज ठीक हो चुके हैं। संपर्क में आने वाले लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। सिविल सर्जन डा. इंद्रमोहन गुप्ता का कहना है कि 28 दिसंबर को ही उन्हें पता चला कि यह व्यक्ति ओमिक्रोन से पाजिटिव था। उन्होंने कहा कि अगर जिले के स्वास्थ्य विभाग सही समय पर सही कदम नहीं उठाता तो ओमिक्रोन और फैल सकता था।