गुरदास मान की अग्रिम जमानत पर फैसला आज:सिख संगठनों के विरोध को देखते हुए जालंधर कोर्ट कॉम्प्लेक्स के बाहर कड़ी सुरक्षा

0
583

सड़क से लेकर परिसर तक पुलिस बल तैनात

श्री गुरु अमरदास जी पर विवादित टिप्पणी के केस में पंजाबी गायक गुरदास मान की अग्रिम जमानत पर बुधवार यानी आज फैसला आ सकता है। इसे देखते हुए पुलिस ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है। कोर्ट का की तरफ जाने वाले रास्ते पर बैरिकेडिंग कर दी गई है।

वहीं, कॉम्प्लेक्स परिसर में भी पुलिस कर्मचारियों की तैनाती की गई है। ACP बलविंदर इकबाल काहलों की अगुवाई में दो पुलिस थानों के SHO व पुलिस फोर्स को यहां तैनात किया गया है। गुरदास मान आज कोर्ट में पेश होंगे या नहीं, इसको लेकर अभी हालात स्पष्ट नहीं हैं।

बता दें कि मान की अग्रिम जमानत पर मंगलवार को सिख संगठनों व मान के वकीलों के बीच बहस हो चुकी है, जिसके बाद सेशन कोर्ट ने सुनवाई आज के लिए टाल दी थी। वहीं, सिख संगठन भी फैसले पर निगाहें जमाकर बैठे हैं। वह हर हाल में गुरदास मान को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं।

20 अगस्त को डेरा बाबा मुराद शाह नकोदर के सालाना मेले में गुरदास मान ने डेरे के गद्दीनशीन लाडी शाह को श्री गुरु अमरदास जी का वंश बता दिया था। जिससे सिख संगठन नाराज हो गए, लेकिन मान ने वीडियो जारी कर इसके लिए माफी मांग ली थी।

मंगलवार को सुनवाई के दौरान सिख संगठनों के वकील परमिंदर सिंह व रविंदर सिंह ने सेशन कोर्ट में कहा कि मान ने डेरा बाबा मुराद शाह नकोदर मेले में आपत्तिजनक टिप्पणी की। उन्होंने डेरे के गद्दीनशीन लाडी शाह को तीसरी पातशाही श्री गुरु अमरदास जी का वंश बताया, जिससे पंजाब व देश ही नहीं, बल्कि दुनिया के हर कोने में रह रही सिख संगत की भावनाओं को ठेस पहुंची है। अगर गुरदास मान को अग्रिम जमानत मिली तो सिख संगत का रोष बढ़ेगा और इससे पंजाब का माहौल खराब हो सकता है।

गुरदास मान के वकीलों ने कहा कि उन्होंने अज्ञानतावश इस तरह की बात कह दी और इसके लिए वे पहले ही हाथ जोड़ व कान पकड़कर माफी मांग चुके हैं। ऐसे में उन्हें अग्रिम जमानत दे दी जाए। हालांकि सिख संगठनों के वकीलों ने कहा कि यह कंपाउंडेबल ऑफेंस नहीं है। ऐसी कोई माफी कानूनी तौर पर मान्य नहीं है। इसलिए मान को इस आधार पर अग्रिम जमानत नहीं मिलनी चाहिए।

गुरदास मान पर धार्मिक भावनाएं आहत करने का केस दर्ज कराने वाले सिख नेता परमजीत सिंह अकाली ने कहा कि वे फिलहाल जालंधर सेशन कोर्ट के फैसले का इंतजार कर रहे हैं। उसके बाद मान के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करवाने की अगली रणनीति तय की जाएगी। जरूरत पड़ी तो मान के खिलाफ वे पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट भी जाएंगे।

गुरदास मान के खिलाफ सिख संगठनों के जालंधर-दिल्ली नेशनल हाईवे जाम करने के बाद IPC की धारा 295A के तहत केस दर्ज हुआ। इसके बाद डेरा बाबा मुराद शाह नकोदर के समर्थक भी सड़क पर उतर आए। उन्होंने पुलिस से मान पर केस दर्ज कराने वाले परमजीत सिंह अकाली के खिलाफ पर्चा दर्ज करने की मांग की। उनका कहना था कि परमजीत अकाली ने उनके गुरु व साईं लाडी शाह जी के बारे में अपशब्द कहे हैं।

पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया, लेकिन इसके बाद सिख संगठनों ने मान की गिरफ्तारी की मांग तेज कर दी। शहर में संविधान (BMC) चौक पर मान का पुतला भी फूंका।